आयु अधिक होने पर सर के बाल उड़ जाना आम समस्या है किंतु कम आयु में ही यदि बालों का क्षरण होने लगे तो यह अच्छा नहीं माना जाता. बाल गिरने के कारण हर व्यक्ति में अलग अलग हो सकते हैं. इसलिए इसका उपचार संयम से एवं नियमित रूप से करना अत्यंत आवश्यक है. 1 पालक, बथुआ,सरसों आदि हरी सब्जियाँ मौसम के अनुसार जो भी उपलब्ध हो. प्रतिदिन एक समय अवश्य भोजन में शामिल कीजिए. 2 ताज़ा एलो वेरा का गूदा निकाल कर पीस लीजिए. अब इस गूदे से सर की मालिश 15 मिनट करें. और 30 मिनट बाद सर धो लें. 3 हरी सब्जियों को उबाल लीजिए. साप्ताह में 2 बार इस गुनगुने पानी से सर धोएँ. 4 रात को सोते समय दोनो नाक में देसी गाय के दूध से घर पर बनाया हुआ घी गुनगुना कर के 2 बूँद डालें. कुछ समय उसी अवस्था में लेटे रहें .15 मिनिट बाद कुल्ला कर के सो जाएँ. 5 साप्ताह में एक बार दही से सर धोएँ. 6 बालों में लगाने वाले जैल या स्प्रे आदि का प्रयोग पूर्ण प्रतिबंधित है. इसके स्थान पर नारियल या आमला का तेल लगाएँ. सभी उपाय नियमित करने से अधिकतर युवाओं में बाल झड़ने की समस्या समाप्त हो जाती है. वैद्य जी


Leave a comment :